सिलाई मशीन को कैसे ख़राब होने से बचाए।

सिलाई मशीन तो हर घरों में लगभग होती ही है । कुछ लोग तो अपने कपडे खुद से सिल लेते है । लेकिन कुछ लोग पुराने फटे हुए कपडे या फिर छोटे मोटे कपडे सिलने के लिए यूज़ करते रहते है ।

sewing-machine

अगर आप रोज मशीन का यूज़ नहीं करती तो मशीन जाम हो जाती है और वह भरी चलने लगती है । इसलिए मशीन को कुछ इन तरीकों को अपनाकर ऐसे संभाल कर रखे जिससे की दोबारा इस्तेमाल करते समय आसानी से चल सके ।

1-      मशीन में हमेशा अच्छी किस्म का ही तेल डाले । तेल डालने के बाद मशीन को थोड़ी देर के लिए धुप में रख दे । इससे तेल मशीन के सारे पार्ट्स में सही से पहुंच जायेगा ।

2-      कभी कभी मशीन का पहिया भी जाम हो जाता है यह बियरिंग के ऊँचे होने के कारण या फिर शटल में धागा फसने की वजह से भी हो सकता है ।

3-      सिलाई करते समय यह ध्यान रखे की मशीन की सुई सीधी और सही तरीके से फिक्स हो । नहीं तो सुई टूट सकती है । अगर सुई के टूटने के समय सिलाई करती रहेगी तो कपडे का धागा खींचने लगता है और कपडा भी खराब हो जाता है ।

4-      कपडे के प्रकार के अनुसार ही अलग अलग नंबर की सुई प्रयोग करना चाहिए नहीं तो सुई टूट सकती है ।

5-      अगर धागा बार बार टूट रहा हो तो ये हो सकता है की सुई सही से न लगी हो या फिर फिरकी में धागा ज्यादा लपेट दिया गया हो ।

6-      कभी कभी मशीन के शटल में धागा फस जाता है तो मशीन चल नहीं पाती । तब मशीन के ऊपरी तरफ से थोड़ा सा उठाए और फिरकी निकाल ले । फिर मशीन के पिछले पहिए को आगे और पीछे की तरफ घूमते हुए चिमटी से शटल में से धागा निकल दे । शटल मशीन का वह पार्ट है जहां पर धागे से भरी फिरकी को फिट किया जाता है ।

7-      मशीन के पैर मतलब की प्रेशर फुट के नीचे जो स्क्रॉल टाइप का लगा होते है उससे नर्म ब्रश से साफ़ करते रहना चाहिए । जिससे की वह धुल न जमे । सिलाई कर लेने के बाद वहां एक कपडे का टुकड़ा रखकर पैरो को नीचे कर देना चाहिए ।

8-      मशीन में तेल डालने के लिए उसमे कुछ छेद बने होते है उन्ही छेदो में तेल डाले और यह ध्यान रखे की तेल डालने वाले की कीप में बारीक़ नोजल लगी हो  |

9-      जिससे की तेल मशीन के अंदर ही गिरे ।

10-   हमेशा अच्छी कंपनी का ही धागा उसे करे ।

11-   मशीन को प्रयोग करने के बाद अच्छे से ढककर रखे जिससे की उसमे कीट या डस्ट न चली जाये ।

12-   अपनी मशीन को हर ४-५ महीने में सर्विस जरूर कराये ।