Republic Day Speech गणतंत्र दिवस भाषण

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है –

हमारा भारत देश कई वर्षो तक ब्रिटिश शासन के अधीन था | उस समय अंग्रेजो ने भारतीय लोगो को अपने कानून का पालन करने को कहा | जो लोग इसका पालन नही करते थे उन पर अत्याचार किये गए | देश को आजाद कराने के लिए बहुत से भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने बहुत मेहनत की और कई लोगो ने अपनी जान तक गवा दी | तब जाकर भारत को 15 अगस्त 1947 में आजादी मिली |

भारत की स्वतंत्रता के ढाई बर्ष बाद सरकार ने सविधान लागु किया और भारत को प्रजातान्त्रिक गणतंत्र घोषित किया गया | 26 जनवरी 1950 को भारत के सविधान को भारत की सविधान सभा में पेश किया गया | इस घोषणा के बाद से ही सभी भारतीय इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाने लगे |

इस उत्सव को भारत की राजधानी दिल्ली में बहुत ही बड़े तरीके से मनाया जाता है | दिल्ली के राजपथ में 1 महीने से तैयारिया होने लगती है | उत्सव के दिन राष्ट्रपति सबसे पहले भारतीय तिरंगे को फहराते है और उसके बाद राष्ट्रगान ‘जन गन मन’ गाया  जाता है | उसके बाद भारतीय सेना की परेड और भारतीय राज्यों की सस्कृति को दर्शाने वाले कार्यक्रम आदि होते है |

Indian-Republic-Day

Republic Day Speech गणतंत्र दिवस भाषण

आप सभी को नमस्कार | मेरा नाम —है और मै—क्लास में पढता हु | जैसे की हम सभी लोग आज यहाँ गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर इकट्ठा हुए है |

आप लोगो को मै धन्यवाद् करना चाहुगा कि आप लोगो ने मुझे यह अवसर दिया कि मै इस विशेष दिवस पर अपने प्यारे भारत के बारे में कुछ शब्द बोल सकू |

हमारे देश को 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश सरकार की हुकूमत से आजादी मिल गयी थी | लेकिन हमारा सविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था और हम इस दिन को पूर्ण आजादी के रूप में मानते है | इसलिए इस दिन को बहुत ही हर्ष और उल्लाश के साथ मनाया जाता है |

इस वर्ष 2017 को यह 68वा गणतंत्र दिवस आज माना रहे है | हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों ने बहुत ही कड़ी मेहनत और संघर्ष के बाद ही भारत को पूर्ण आजादी दिला पाए है | उन्होंने हमारे लिए बहुत ही जुल्म सहे जिससे कि हम सभी लोगो को जुल्म न सहना पड़े और हमारा देश आगे बढ़ सके |

हमारे देश के कुछ महान स्वतंत्रता सेनानी और नेताओ के नाम है – महात्मा गाँधी, भगत सिंह, लाला लाजपत राय, चन्द्र शेखर आजाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री | उन्होंने कई वर्षों तक ब्रिटिश सरकार का सामना किया और हमारे देश को आजाद कराया | उनके इस बलिदान को हम कभी भी नही भूल सकते |

हमारे देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद जी ने कहा था “हमारे पूर्ण महान और विशाल देश के अधिकार को हमने एक ही सविधान और संघ में पाया जाता है जो देश में रहने वाले 320 लाख महिलाओ और पुरषों के कल्याण की जिम्मेदारी लेता है |”

हमारे लियेः बहुत ही शर्म की बात है कि देश की आजादी के बाद आज भी हम लोग अपराध, भ्रस्टाचार और हिंसा से लड़ रहे है | अब फिर से हम सभी लोगो को एक होना होगा | तभी हम लोग अपने देश को गरीबी, अशिक्षा, असमानता जैसी चीजों से बचा पाएंगे और अपने देश को विकसित, सफल, भ्रस्टाचार मुक्त और स्वच्छ बना पाएंगे |

पूर्व राष्ट्रपति डॉ ऐ. पी. जी. अब्दुल कलाम ने कहा था अगर देश को भ्रस्टाचार मुक्त और महान बनाना है तो तीन चीजो में बदलाव लाना होगा | वो है माता पिता और शिक्षक | इसलिए हमें अपने देश के बारे में कुछ सोचना चाहिए |

जय हिन्द |