आखिर क्यों काटते हैं मच्छर ?

आज हम आपको बताते है कि मच्छर क्यों किसी को ज्यादा और किसी को बहुत कम काटते है ? वैज्ञानिक भी मानते हैं कि मच्छर भी कुछ खास लोगो ही काटते है |

Mosquito-bites

गर्भवती महिलाओ :- शोधो में पाया गया हैं कि गर्भवती महिलाओ के श्वास में कार्बनडाइऑक्साइड की मात्रा 21% अधिक होती है और इस अवस्था में महिलाओं के शरीर का तापमान अधिक होता है |  जिसके कारण मच्छर ज्यादा तेजी आकर्षित होते है |

ब्लड ग्रुप :- शोधो में पाया गया है कि A ब्लड ग्रुप की अपेक्षा मे O ब्लड ग्रुप वालो को दुगुना मच्छर काटते है | वही B ब्लड ग्रुप वालो को सामान्य काटते है |

कपड़ो का रंग :- यूनिवर्सिटी ऑफ़ फ्लोरिडा के शोध के अनुसार कपड़ो का रंग भी मच्छरों के कम व ज्यादा काटने का कारण हैं क्योकि मच्छरों में देखने की क्षमता होती है | यही कारण हैं कि लाल, काले व नीला रंग जैसे रंगो के कपड़ो पहने लोगो को सामान्य लोगो से 20 से 25% ज्यादा मच्छर काटता है क्योकी ये रंग सूर्य की गर्मी अवशोषित करते है | मच्छर इन रंगों के प्रति ज्यादा तेजी आकर्षित होते है |

पसीना :- ऐसा पाया गया है कि शारीरिक रूप से सक्रिय लोगो को मच्छर अधिक काटता है | इसका मुख्य कारण यह हैं कि पसीने में लैक्टिक एसिड, यूरिक एसिड, अमोनिया जैसे तत्व होते है | जिनसे मच्छर ज्यादा तेजी से आकर्षित होते है | इसके अलावा पसीने की गंध से व इत्रो की खासकर फूलो से बने इत्र की खुशबू के कारण भी मच्छर ज्यादा काटते है |

कैसे करे बचाव :-

1. नियमित रूप से स्नान करके |

2. शोचालयों का ढक्कन बंद रख कर |

3. शरीर पर पूरे ढके हुए कपड़ो को पहनकर |

4. लंबे समय तक घर से बाहर न रहे |

5. शाम के वक्त पेड़ो के नीचे न जाये |